नमस्कार दोस्तों आज हम इस ब्लॉग में (Camarilla Levels) के बारे में जानेगे। इसकी शुरुआत 1989 एक ट्रेडर जिनका नाम (Nich Statt) था। यह fibonacci levels से भी काफी प्रभावित थे। (Nich Statt) उस समय बॉन्ड में ट्रेड करा करते थे और हमेशा मार्किट की भविस्यवाणी किया करते थे। कई बार सही होती थी और कई बार नहीं जिससे वो संतुस्ट नहीं हुए। फिर उन्होने देखा मार्किट में कुछ लेवल्स ऐसे की जब मार्किट वहाँ पर आ जाता है तो वहाँ से उल्टी दिशा में चलने लगता है।

(Camarilla levels / Equation) का इजात होना :- 

(Nich Statt) ने Mathmatical की सहायता से (Camarilla levels / equation) तैयार किया जो विभिन्न प्रकार के support / resistance बताता जिसकी मदद से आप बाजार की चाल हो समझना आसान हो जाता है और आप सही जगह सही ट्रेड लेने में कामयाब हो पाते है

Markets :-

Cash intraday , Future intraday , Commodity Intraday , Forex Intraday .

Camarilla formula :-

Resistance 4—–R4 = (H-L)X1.1/2+C
Resistance 3—–R3 = (H-L)X1.1/4+C
Resistance 2—–R2 = (H-L)X1.1/6+C
Resistance 1—–R1 = (H-L)X1.1/12+C
PIVOT POINT         = (H+L+C)/3
Support 1———S1 = C-(H-L)X1.1/12
Support 2———S2 = C-(H-L)X1.1/6
Support 3———S3 = C-(H-L)X1.1/4
Support 4———S4 = C-(H-L)X1.1/2

(Camarilla levels/equation) का कैसे प्रयोग करे ? :- 

इसे प्रयोग करना बहुत आसान है आपको बस पिछले ट्रेडिंग दिन का (High,Low,Close) price चाहिए और उसको आप ऊपर दिए गए कैलकुलेटर में डाल दीजिये और उसके बाद आपको 8 levels मिल जायेंगे पहले चार resistance levels (H4,H3,H2,H1) है और दूसरे चार support levels (L1,L2,L3,L4) है। इस सभी लेवल्स में सिर्फ दो लेवल्स ज्यादा महत्वपूर्ण है :-
  • (H3 ) – यह वो लेवल है जहाँ से आपको SHORT ट्रेड लेना होता है क्योकि CAMARILLA के हिसाब से इस लेवल मार्किट की दिशा बदलने की सम्भावना ज्यादा रहती है और अगर अपने पहले से LONG का ट्रेड लिया हुआ है तो आप इस लेवल पर अपना प्रॉफिट बुक कर सकते है। 
  • (L3 ) – यह वो लेवल है जहाँ से आपको LONG ट्रेड लेना चाहिए और अगर आपने पहले से SHORT का ट्रेड लिया हुआ है तो आप इस लेवल पर अपना मुनाफा बुक कर सकते है। 

LEAVE A REPLY